सिंधु घाटी सभ्यता के पतन के कारण


सिंधु घाटी सभ्यता के पतन 1750 ईस्वी आते-आते सिंधु घाटी सभ्यता के पतन के साक्ष्य मिलने लगते हैं सिंधु घाटी सभ्यता का पतन हुआ था नष्ट नहीं हुआ था इतिहासकार इस के पतन के निम्नलिखित कारण बताते हैं ।

सिंधु घाटी सभ्यता के नगर नदीयों के किनारे बसे हुए थे अतः बाढ़ आने से ये डूब गया

भूकंप आने से
जलवायु परिवर्तन
भूखमरी से
आग लगने से /आदि

परंतु वर्तमान का इतिहास यह मानते हैं कि सिंधु घाटी सभ्यता का पतन प्रस्थिक असंतुलन के कारण हुआ था।

सिंधु घाटी सभ्यता का पतन हुआ था यह नष्ट नहीं हुई थी जब मध्य एशिया से आए तभी सिंधु सभ्यता के लोग भारत के पश्चिम उत्तर भाग में निवास कर रहे थे।

आर्यों ने इन्हें अनार्य कहां पहले आर्य एवं अनार्य के बीच टकराहट दिखती हैं परंतु धीरे-धीरे आर्य तथा अनार्य को सभ्यता और संस्कृति मिश्रित हो गई ।