यंग बंगाल आंदोलन

यंग बंगाल आंदोलन के संस्थापक हेनरी विवियन 
डेरोजियो थे वे एक एग्लो इंडियन थे इनका जन्म 1809 ईसवी में कोलकाता के हुआ था वह कम उम्र में ही कोलकाता के हिंदू कॉलेज के प्रोफेसर हो गए थे वें 1789 ई. के फ्रांस की क्रांति से प्रभावित थे उन्होंने अपने शिष्यों को स्वतंत्र तरीके से सोचेने, समानता तथा बंधुता के पाठ पढ़ाया था । देखते-देखते बंगाल के युवा इनसे विचारों से आकर्षित हुए और यंग बंगाल आंदोलन की शुरुआत हो गई थी उन्होंने बंगाल में कई डिवेंटीका क्लब की स्थापना की थी वे वेस्ट इंडिया नामक पत्रिका का संपादन करते थे ।

हेनरी विवियन डेरोजियो को भारत का प्रथम राष्ट्रवादी कवि कहा जाता है 1831 ईसवी में हैजा के कारण इसकी मृत्यु हो गई ।